HOME    About This Site    mypage        Japanese    library    university    Feedback

Search:All of DSpace

(type:SARDA) is hit count [2903].
Results 131-140.
 

previous 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22 23 next 

131 भगवन्तभास्कर : जिसमें अनेकप्रकार का निर्णय निरूपण किया गया है व उसका प्रमाण भी हर एक में शामिल है / नीलकण्ठ भट्ट ने बनाया / Nīlakaṇṭha, 17th cent -- Śyāmalāla Miśra,Chāpāk̲h̲ānā, Navalakiśora1897 SARDA
132 जुग़राफ़ियेदुनिया / Navalakiśora1888 SARDA
133 शिवपार्व्वतीचरित्र : भाषाछन्दोवद्ध : जिसमें काशिकागमन, जड़चेतनी, और गिरिजामंगल भी संयुक्त हैं / ओरीलालने निर्माण किया है / Orīlāla -- Navalakiśora1886 SARDA
134 नूरनामा : उर्दू से हिन्दी में लिखागया / Navalakiśora1912 SARDA
135 सावन का मेला : नई कजली : जिसमें बर्षाऋतु में आनन्द देने योग्य मलार और कजलियाँ हैं / Navalakiśora1909 SARDA
136 भजनावली : जिसमें शिवविवाह, आरती, प्रभाती, भजन, होली, चैत, गीतगोविन्द, बारहमासा, ठुमरी आदि अतिउत्तम सरस छन्दों और रागों में भक्तजनों के आनन्द के निमित्त वर्णित हैं / मुंशी जगन्नाथसहाय विरचित / Jagannāthasahāya, Muṃśī -- Navalakiśora1911 SARDA
137 साङ्गीत प्रह्लाद / लक्ष्मणसिंह विरचित / Siṃha, Lakshmaṇa -- Navalakiśora1913 SARDA
138 रासलीला : जिसमें श्रीकृष्णचन्द्र परब्रह्मपरमेश्वर का श्रीराधा ललिता आदि गोपियों के साथ रासविहार आदि का वृत्तान्त सुछन्दों में वर्णित है / द्वारकाप्रसाद वाजपेयी ने निर्मित किया / Vājapeyī, Dvārakā Prasāda -- Navalakiśora1912 SARDA
139 भक्तरसनामृत : जिसमें प्राचीन और नवीन कबियों के रचित सबप्रकार के गाने की चीज़ें भजन प्रातकाली ठुमरी दादरा मारफ़त ग़ज़ल भक्तजनोंके आनन्दार्थ संगृहीतहै / मुंशी जगन्नाथसहाय ने संग्रहकिया है / Jagannāthasahāya, Muṃśī -- Navalakiśora1908 SARDA
140 श्रीसीताराम नखशिख / रघुबरसिंह चौधरीने निर्मित किया / Siṃha, Raghubara -- Navalakiśora1900 SARDA

previous 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22 23 next