ホーム    このサイトについて    論文の投稿・確認        English    図書館    東京外国語大学    問合せ

検索対象:リポジトリ全体

(type:SARDA)の該当件数は2903件です。
381-390件目
 

 30 31 32 33 34 35 36 37 38 39 40 41 42 43 44 45 46 47 48  

381 دفتر آفتاب شجاعت : منجملۂ دفاتر / تصدق حسین نے زبان اردو مین ترجمہ کیا / Faiz̤ī, Abūlfaiz̤,Taṣadduq Ḥusain -- جلد 5 ، حصہ 2 -- نولکشور1904-SARDA
382 ऐतरेयोपनिषद् : भाषाटीका सहित : जिसमें आत्मा व ब्रह्मकानिरूपण व प्रनव की उपासना की व्याख्या व संन्यासादि आश्रमों के लक्षण व धर्म अच्छेप्रकार वर्णित हैं / जिसको यमुनाशंकर नागरब्रह्मण से सरल देशभाषा में उल्था काराय / Nāgara, Yamunāśaṅkara -- Navalakiśora1891SARDA
383 किष्किन्धाकाण्ड : श्रीपरब्रह्म परमात्मा रामचन्द्रजी महाराजका चरित्र अध्यात्म विद्या वेदान्त शास्त्र की रीति से श्रुतिसमन्वयपूर्वक वर्णन कियागया है / यमुनाशंकर नागर / Nāgara, Yamunāśaṅkara -- Navalakiśora1905SARDA
384 अरण्यकाण्ड : श्रीपरब्रह्म परमात्मा रामचन्द्रजी महाराजका चरित्र अध्यात्म विद्या वेदान्त शास्त्र की रीति से श्रुतिसमन्वयपूर्वक वर्णन किया है / यमुनाशंकर नागर / Nāgara, Yamunāśaṅkara -- Navalakiśora1905SARDA
385 उत्तरकाण्ड : श्रीपरब्रह्म परमात्मा रामचन्द्रजी महाराज का चरित्र अध्यात्मविद्या वेदान्तशास्त्र की रीति से श्रुति समन्वयपूर्वक वर्णन कियागया है / यमुनाशंकर नागर / Nāgara, Yamunāśaṅkara -- Navalakiśora1913SARDA
386 युद्धकाण्ड : श्रीपरब्रह्म परमात्मा रामचन्द्रजी महाराज का चरित्र अध्यात्मविद्या वेदान्तशास्त्र की रीति से श्रुति समन्वयपूर्वक वर्णन कियागया है / यमुनाशंकर नागर / Nāgara, Yamunāśaṅkara -- Navalakiśora1913SARDA
387 सुन्दरकाण्ड : श्रीपरब्रह्म परमात्मा रामचन्द्रजी महाराजका चरित्र अध्यात्म विद्या वेदान्त शास्त्र की रीति से श्रुतिसमन्वयपूर्वक वर्णन कियागया है / यमनाशंकर नागर / Nāgara, Yamunāśaṅkara -- Navalakiśora1905SARDA
388 गर्गसंहिता भाषा : जिसमें श्रीविष्णुउपासकोंकी प्रीति के लिये गोलोकखण्डादि नवअंशों में श्रीकृष्णचन्द्रजी महाराजका श्रीगर्गावार्यमुखनिर्मित संस्कृत गर्रसंहिता और अनेक प्रमाणिक उत्तमोत्तमग्रन्थोंकी कथाओंका मूल सारांश लीलाविलास दोहा, चौपाई, सोरठा, कवित्वादि सुगम छन्दों में वर्णित है / गिरिधरदास रचित / Giridharadāsa, 1833-1860 -- Navalakiśora1915SARDA
389 श्रीमद्भगवद्गीता : व्रजभाषा-पद्यानुवाद-सहिता / लेखक, स्वामी तुलसीराम मिश्र / Tulasīrāma, Swāmī -- Navalakiśora1925SARDA
390 श्रीभगवद्गीता भाषा : जिसमें श्रीकृष्णजीने अपने भक्त अर्जुन से योग शास्त्रादि वर्णन किया है / लेखक, हरिवल्लभ / Harivallabha -- Navalakiśora1921SARDA

 30 31 32 33 34 35 36 37 38 39 40 41 42 43 44 45 46 47 48