HOME    About This Site    mypage        Japanese    library    university    Feedback

Search:All of DSpace

(type:SARDA) is hit count [2903].
Results 471-480.
 

previous 39 40 41 42 43 44 45 46 47 48 49 50 51 52 53 54 55 56 57 next 

471 श्रीरामस्तवराजः : प्रातर्निवेदनका-दशावतारस्तोत्र-चतुःश्लोकीभागवत-शिवद्वादशज्योतिर्लिंगानि-समेतः / Newul Kishore Press1898 SARDA
472 तनुरक्षक धर्मप्रकाशक : जिसमें यावद्देहधारी पुरुषों को नित्य नैमित्तिक कर्म करना पड़ता है उसका सविस्तर विधान है अर्थात् प्रातःकालसे सायंकाल शयन पर्यन्त यावद्धर्म स्वरूप कर्म करना चाहिये उसका वर्णन और देह रक्षाके लिये सम्पूरण वस्तुओं का यथोचित विधान वर्णन है / बाबा परमानन्दने निर्मितकिया / Paramānanda, Svāmī -- Navalakiśora1904 SARDA
473 श्रीभगवद्गीता : सरल भाषानुवाद और टिप्पण सहित / अनुवादक, गिरिजाप्रसाद द्विवेदी / Dvivedī, Girijāprasāda -- Navalakiśora1911 SARDA
474 बिहारबृन्दाबन शान्तवेद / Ācārya, Vr̥ndābana -- Navalakiśora[19--]SARDA
475 गुञ्जमालिका सटीक : जिसमें अत्युत्तम कूट दोहे प्रत्येक देवताओं की स्तुति के टीका सहित युक्ति के साथ निर्मित किये गये हैं / बाबाचतुरदास ने निर्मितकिया / Caturadāsa, Rāmajī -- Navalakiśora1907 SARDA
476 अथर्ववेदीयप्रश्नोपनिषद् : भाषाटीकासहित : इसमें श्रीपिप्पलाद प्रति कबन्दी आदिक छः ऋषियों का प्रश्न तथा श्रीपिप्पलादजी का उत्तर वर्णित है / अनुवादक, यमुनाशंकर नागर / Nāgara, Yamunāśaṅkara -- Navalakiśora1921 SARDA
477 धर्मोपदेश ; जिसमें श्रीगंगे व श्रीकृष्णचन्द्रजी के गुणानुवाद खम्माच, ठुमरी, होरी आदिपदों में वर्णित हैं / रामानन्द चतुरदासने निर्मितकिया / Caturadāsa, Rāmānanda -- Navalakiśora1910 SARDA
478 प्रश्नोपनिषद् / अनुवादक, रायबहादुर बाबू जालिमसिंह / Zālimasiṃha -- Navalakiśora1930 SARDA
479 यह पुस्तक खेल शतरंज की है / चौबे मनोहरलाल चतुर्वेदीय ने तैयार की है / Caturvedī, Manoharalāla -- Navalakiśora1911 SARDA
480 अयोध्याकाण्ड : श्रीपरब्रह्म परमात्मा रामचन्द्रजी महाराज का चरित्र अध्यात्म विद्या वेदान्तशास्त्रकीरीति से श्रुति समन्वय वर्णन कियागया है / यमुनाशङ्कर नागर / Nāgara, Yamunāśaṅkara -- Navalakiśora1908 SARDA

previous 39 40 41 42 43 44 45 46 47 48 49 50 51 52 53 54 55 56 57 next