HOME    About This Site    mypage        Japanese    library    university    Feedback

Search:All of DSpace

(type:SARDA) is hit count [2903].
Results 491-500.
 

previous 41 42 43 44 45 46 47 48 49 50 51 52 53 54 55 56 57 58 59 next 

491 मार आस्तीन / मुन्शी ज्वालाप्रसाद ने बनकमचन्द्र चटरजी के विष बृक्ष उर्दू में तर्जुमा किया / Chaṭṭerjī, Baṅkima Candra, 1838-1894,Jvālāprasāda -- 2. bhāga -- Navalakiśora1909 SARDA
492 श्रीभगवद्गीता भाषा : जिसमें श्रीकृष्णजीने अपने भक्त अर्जुन से योग शास्त्रादि वर्णन किया है / लेखक, हरिवल्लभ / Harivallabha -- Navalakiśora1921 SARDA
493 पद्मावती खण्ड : अर्थात् दिल्ली के राजा पृथ्वी राज ने अत्यन्त युद्ध कर रानी पद्मावती के साथ विवाह किया और आल्हखण्ड / [चंद] / Canda, Kavi -- Navalakiśora1874 SARDA
494 मार आस्तीन / मुन्शी ज्वालाप्रसाद ने बनकमचन्द्र चटरजी के विष बृक्ष उर्दू में तर्जुमा किया / Chaṭṭerjī, Baṅkima Candra, 1838-1894,Jvālāprasāda -- 1. bhāga -- Navalakiśora1909 SARDA
495 ऐतरेयोपनिषद् : भाषाटीका सहित : जिसमें आत्मा व ब्रह्मकानिरूपण व प्रनव की उपासना की व्याख्या व संन्यासादि आश्रमों के लक्षण व धर्म अच्छेप्रकार वर्णित हैं / जिसको यमुनाशंकर नागरब्रह्मण से सरल देशभाषा में उल्था काराय / Nāgara, Yamunāśaṅkara -- Navalakiśora1891 SARDA
496 विदेशयात्रा / मूल-लेखक, बिशननरायन दर ; अनुवादक, मुकुटबिहारीलाल भार्गव / Dara, Vishṇu Nārāyaṇa,Bhārgava, Mukuṭa Bihārī Lāla -- Navalakiśora1917 SARDA
497 نوشیروان نامہ : دفتر اول داستان امیر حمزه / تصدق حسین نے بزبان اردو ترجمہ فرمایا / Faiz̤ī, Abūlfaiz̤,Taṣadduq Ḥusain -- بار 3 -- جلد 2 -- نولکشور1915 SARDA
498 नखशिखवर्णनसटीक : जिसमें श्रीरामचन्द्र आनन्दकन्द परब्रह्मजी के बालचरित्र ... / कूर्मवंशावतंस बैजनाथ ने रचना किया / Baijanātha -- Navalakiśora1913 SARDA
499 किष्किन्धाकाण्ड : श्रीपरब्रह्म परमात्मा रामचन्द्रजी महाराजका चरित्र अध्यात्म विद्या वेदान्त शास्त्र की रीति से श्रुतिसमन्वयपूर्वक वर्णन कियागया है / यमुनाशंकर नागर / Nāgara, Yamunāśaṅkara -- Navalakiśora1905 SARDA
500 श्रीसेतुबन्धाश्रमयात्रादर्पण : जिसमें श्रीसेतुबन्धरामेश्वरजीके समीप के सम्पूर्ण स्थान व प्रसिद्धप्रसिद्ध तीर्थ व मन्दिर सर सरिता पहाड़ादि जोकि यात्रामें मिलते हैं उन सबका सम्पूर्ण हाल अच्छेप्रकार कहागया है / दादादूधदासने निर्मित किया / Dūdhadāsa, Bābā -- Navalakiśora1889 SARDA

previous 41 42 43 44 45 46 47 48 49 50 51 52 53 54 55 56 57 58 59 next