HOME    About This Site    mypage        Japanese    library    university    Feedback

Search:All of DSpace

(type:SARDA) is hit count [2903].
Results 511-520.
 

previous 43 44 45 46 47 48 49 50 51 52 53 54 55 56 57 58 59 60 61 next 

511 अमरकोष भाषा : जिसमें समस्त सांसारिक पदार्थों के नाम वर्णित हैं / रामाङ्गज चतुरदास ने निर्माण किया है / Caturadāsa, Rāmāṅgaja -- Navalakiśora1905 SARDA
512 ناصر العشاق / ناصر علی / Nāṣir ʿAlī -- نولکشور1896 SARDA
513 बालकाण्ड : भाषा-टीका-सहित / तुलसीकृत : टीकाकार, बैजनाथ कूर्मवंशीय / Tulasīdāsa, 1532-1623,Kūrmavaṃśīya, Baijanātha -- Navalakiśora1927 SARDA
514 مجمو عۂ مرثیۂ منشی دلگیر / دلگیر لکهنوی / Lakhnavī, Dilgīr -- جلد 3 -- نولکشور1897 SARDA
515 रघुराजविनोद / त्रिपाठि पुरन्दर बिरचित / Tripāṭhī, Purandara -- Navalkiśora1899 SARDA
516 श्रीरसार्णव : जिसमें अष्टनायकाओं अर्थात् स्वकिया, परकीया, मध्या, सामान्या, उत्का, प्रौढ़ा, प्रगल्भादिके भेद व लक्षण काब्य रीतिसे मनोहर दोहाकवित्तों में वर्णित हैं / श्रीशुकदेव कवि ने निर्मितकिया / Śukadeva -- Navalakiśora1890 SARDA
517 लक्षमीसरस्वतीसम्बाद : जिसमें प्रश्नोत्तर की रीतिपर एतद्देशीय कन्या और स्त्रियों की शिक्षा के निर्मित मनोहर कथा कीतरह नीति शिक्षा वर्णित है / नवीनचन्द्र राय के द्वारा विरचित किया / Rāya, Navīnacandra -- 1. bhāga -- Navalakiśora1886 SARDA
518 माधवबिलास : जिसमें शृंगाररसान्तर्गत स्वकीया परकीया मध्या प्रगल्भादि अष्टनायका भेद उत्तमोत्तम कबियों के अनुप्राससे सुन्दर मदुर व ललित्य कबित्तों में नवीन रीति से वर्णितहैं / माधवप्रसाद त्रिपाठी ने निर्मित किया / Tripāṭhī, Mādhavaprasāda -- Navalakiśora1888 SARDA
519 रामाश्वमेध भाषा : जिसमें श्रीरामचन्द्रजीकी आज्ञानुसार बाल्मीक्याश्रम समीप जानकी का परित्याग व बाल्मीक्याश्रममें जानकी निवास व ... / बाबा दूधदास ने संस्कृत से छंदबंधमें निर्मित किया / Dūdhadāsa -- Navalakiśora1900 SARDA
520 ज्ञानमाला / Navalakiśora1908 SARDA

previous 43 44 45 46 47 48 49 50 51 52 53 54 55 56 57 58 59 60 61 next