HOME    About This Site    mypage        Japanese    library    university    Feedback

Search:All of DSpace

(type:SARDA) is hit count [2903].
Results 251-260.
 

previous 17 18 19 20 21 22 23 24 25 26 27 28 29 30 31 32 33 34 35 next 

251 रसप्रवोध : जिसमें स्वकीया, परकीया, मध्या, मुग्धा, उत्का, प्रौढ़ा, वा ग्विदग्धा, कियाविदग्धा खण्डिता, कलहन्तरि तादि नायकाओंका भेद यथातत्थ्य दोहाओं में वर्णित है / सय्यद गुलामनवीकविने निर्मित किया / Gulāmanavī, Sayyad -- Navalakiśora1890 SARDA
252 विजयविशाल : जिसमें जैमिनिपुराणान्तर्ग्गत श्रीयुधिष्ठिरजीकी यज्ञ व दिग्विजय कथा अत्युत्तम व मनोहर दोहा चौपय्यादि छन्दोंमें वर्णित है / हजारीलालने निर्मित किया / Hajārīlāla -- Navalakiśora1890 SARDA
253 श्यामकेलि : जिसमें सच्चिदानन्द आनन्दकन्द श्री कृष्णचन्द्र जी और सर्व सुखखानी श्रीराधिकारानीजी की केलि ... / लालागणपतिराय कृत / Gobinda Sahāya, Lālā -- Navalakiśora1889 SARDA
254 तुलसीदासकृत रामायणकी मानसदीपिका / मिश्रईश्वरकविकृत ; मुंशीनवलकिशोर ने अच्छे 2 पण्डितों के द्वारा शुद्धकराया / Miśra, īśvarakavi -- 2. bāra -- Navalakiśora1894 SARDA
255 लङ्काकाण्ड जिसमें श्रीरामचन्द्र आनन्दकन्द का लङ्काकाण्ड सम्बन्धी परमोदार चरित्र आल्हा की रीतिपर छन्द-प्रबन्ध में वर्णन किया गया है / वन्दीदीनदीक्षित ने निर्मितकिया / Dīkshita, Bandīdīna -- 2. bāra -- Navalakiśora1914 SARDA
256 किष्किन्धाकाण्ड : जिसमें श्रीरामचन्द्र आनन्दकन्द का किष्किन्धाकाण्ड संबंधी परमोदार चरित्र आल्हाछन्द में वर्णन किया गया है / लेखक, बंदीदीन दीक्षित / Dīkshita, Bandīdīna -- 2. bāra -- Navalakiśora1926 SARDA
257 बल्लभा ख्यान / गोपारदास कृत / Gopāladāsa -- Mumbai (i.e. Matbai) Ula Ulūma1883 SARDA
258 मयंकमंजरी : महानाटक : शृंगाररसका एक अपूर्ण दृश्य / किशोरीलाल गोस्वामी विरचित / Gosvāmī, Kiśorīlāla -- Navalakiśora1891 SARDA
259 छप्पय रामायण : भाषा-टीका-सहित / गो॰ तुलसीदास-कृत ; टीकाकार, बैजनाथ कुर्मी / Tulasīdāsa, 1532-1623,Kurmī, Baijanātha -- 2. bāra -- Navalakiśora1926 SARDA
260 वचनतरंगिणी / भगदेव उपनाम (रज्जीदुबे) ने निर्माण किया / Rajjīdube, Bhavadeva -- Navalakiśora1893 SARDA

previous 17 18 19 20 21 22 23 24 25 26 27 28 29 30 31 32 33 34 35 next